IP Address क्या है IP Address कितने प्रकार के होते है ?

Hello Friends Tech Gyan In Hindi में आपका स्वागत है मेरा नाम है गणेश कुमार इस Post में आप IP Address क्या है यह कितने प्रकार के होते है ? के बारे में जानेंगे

IP Address क्या है IP Address कितने प्रकार के होते है

आपने कभी न कभी IP Address के बारे में जरुर सुना होगा IP Address हर उस Computer और SmartPhone को दिया जाता है जो Internet से Connect रहता है IP Address हर Divice का बहुत महत्वपूर्ण Feature होता है IP Address के Help से हम एक Divice को दुसरे Divice से Connect कर सकते है IP Address को Internet का Passport भी कहा जाता है IP Address के मदद से ही आपका आपका Divice Internet से Connect हो पता है

IP Address क्या है ?

आज Internet की इस दुनिया मे बहुत से ऐसे तत्व मौजूद है जिनकी मदद से आप एक जगह से दूसरी जगह बड़ी आसानी से Data को Transfer किया जा सकता है उन्ही तत्वों में से एक IP Address है IP Address का Full Form Internet Protocol Address होता है यह एक Piece Of Network Hardware का Identifying Number होता है IP Address IP Bassed Network में एक Divice से दुसरे Divice को Communicate करने के लिए Allow करता है

IP Addres को हम सरल भाषा में IP भी कहते है यह एक गणितीय अंको का रूप होता है यह एक Unique Address होता है जो हर SmartPhone और Computer और सभी प्केरकार की Divice के लिए अलग-अलग होता है जिससे किसी भी Divice को बड़ी आसानी से Identify किया जा सके बिना

बिना IP Address के हम एक Divice से दुसरे Divice से साथ Connect नहीं रह सकते इसलिए Browser में किसी विषय पर Search करने के लिए IP Address से Router को यह ज्ञात होता है कि उसको यह Data कहाँ पहुँचाना है और Router आपकी जानकारी को इक्कठा करके उस IP Addres तक पहुंचा देता है IP Address Internet या Local Network में एक Divice से दुसरे Divice में Recognize होने के लिए Allow करता है अभी तक IP Address के 2 Version मौजूद है “IPv4 और IPv6″

Note :-किसी एक Computer के दो IP Address हो सकते है पहला Internet Connection के लिए और दूसरा आपके Computer यानि Local Area Network के लिए हो सकता है

IP Address के Versions

फिलहाल IP Address के 2 Version उपलब्ध है

  1. IPv4
  2. IPv6

1.IPv4

IPv4 का Full Form (Internet Protocol Version 4) होता है IPv4 को 1983 में विकसित किया गया था IPv4 32 Bit का होता है IPv4 Address 172.16.254.5 कुछ इस तरह दिखाई देता है जिसे 4 भागों में दशमलव के जरिये बाँटा गया है जिसमे प्रत्येक Range 0 से 255 तक होती है जिसमे प्रत्येक भाग 8 Bit का होता है खासतौर पर IPv4 Binary, Hexadecimal आदि रूप में दिखाई देता है लेकिन IPv4 में केवल सीमित IP Address हो सकते हैं अभी लगभग ज्यादातर Divice में IPv4 Address उपलब्ध होता है.

2.IPv6

IPv6 का Full Form (Internet Protocol Version 6) होता है IPv6 को IETF (Internet Engineering Task Force) ने 1995 में Interoduce किया था पिछले कुछ सालों में Internet Users के बढती संख्या के कारण IPv6 को IPv4 की जगह विकसित किया गया जिसमे अनगिनत IP Addresses हो सकते है IPv6 में 128 Bit होते है IPv6 किसी भी Router के Network को Automatic बदल सकता है और यह आधुनिक Desktop के Server को Suport करता है

IP Address कितने प्रकार के होते है ?

IP Address मुख्य रूप से 4 प्रकार के होते है

  1. Public IP Address
  2. Private IP Address
  3. Static IP Address
  4. Dynamic IP Address

Read Also :- Vivo के Mobile Phones मे Developer Options को कैसे Enable करें ?

Read Also :- OnePlus के किसी भी Mobiles Phones मे Developer Options को कैसे Enable करें ?

1.Public IP Address

Public IP Address का इस्तेमाल OutSide Network में किया जाता है जिसको ISP (Internet Service Provider) के जरिये Assign किया जाता है ये Main Address होता है जिसका उपयोग आपके Home या Business Network में इस्तेमाल किया जाता है Public IP Address को हम बदल नहीं सकते क्योंकि यह सबसे अलग होता है

2.Private IP Address

Private IP Address का इस्तेमाल Inside Network में किया जाता है Private IP Address में Mobile,Computer आदि एक से अधिक Divice किसी Cable या Wireless रूप से Connect होते है इसमे Connect किये गए सभी Divice के IP को Private IP Address कहते है

3.Static IP Address

Static IP Address को ISP (Internet Service Provider) किया जाता है Static IP Address में DHCP (Dynamic Host Configuration Protocol) Enable नहीं होता है Static IP Address को Manually Assign किया जाता है

3.Dynamic IP Address

Dynamic IP Address DHCP (Dynamic Host Configuration Protocol) Enable होती है या IP Network पर आधरित होती है और यह Computer के Internet से Connect होने पर बदल जाती है

IP Address का इतिहास

वर्तमान में 2 IP Address का इस्तेमाल किया जाता है IPv4 और IPv6 IP Address को Arpanet द्वारा विकसित किया गया था IPv4 Address 32 Bit का होता है जिसमें 4,297,967,296 Address Space सीमित होता है IPv4 Dot-Decimal Notation के रूप में Present किया जाता है. जिसमें 4 गणीतिय अंक होते हैं तथा प्रत्येक की Range 0-255 तक तक होती है और प्रत्येक भाग 8 Bits (Octet) का बना होता है

Internet Protocol के शुरुवाती दौर में Network Number की संख्या अधिकतम 8 होती थी इसमे केवल 256 Network की अनुमति होती थी लेकिन 1981 में इस समस्या के समाधान के लिए IPv4 तैयार किया गया जो वर्तमान में भी उपयोग किया जाता है

समय के साथ बढ़ते Internet Users के कारण उपलब्ध IP Address में कमी के कारण 1995 में नये IP Address को Design दिया गया जिसको IPv6 (Internet Protocol Version 6) का नाम दिया गया IPv6 को वर्ष 2000 तक विभिन्न Testing प्रक्रिया के दौर से गुजारा गया

IPv4 तथा IPv6 के बीच IPv5 1979 के Experiment Internet Protocol Stream पर आधारित था हालांकि IPv5 को कभी भी लॉन्च नही किया गया IP Address को कार्यों के आधार पर विभिन्न Classes में बांटा गया है

Class A

इस IP Address की Range -1.0.0 1 से लेकर 120.134.254.255 होती है यह एक विशाल Network होता है जो अनेक Divice से युक्त रहता है

Class B

इस IP Address की Range -128.1.0.1 से लेकर 191.255.255.254 तक होती है यह एक Medium Size के Network को Support करता है

Class C

इस IP Address की Range -193.0.1.1 से लेकर 223.255.254.254 तक होती है यह छोटा Network होता है जिसमें 256 से कम Divice होते हैं

Class D

इस IP Address की Range -229.0.0.0 से लेकर 239.255.255.255 के मध्य होती है जो Multicast Group के लिए आरक्षित होता है

Class E

इस IP Address की Range – 240.0.0.1 से लेकर 254.255.255.254 तक होती है यह भविष्य में उपयोग की जाने वाली तकनीक है जिस पर Research तथा Development कार्य किया जा रहा है.

IP Address का पता कैसे करें ?

IP Address को ढूढ़ने के लिए अलग-अलग Divice और अलग-अलग Operating System को अलग-अलग Steps की जरुरत होती है Public IP Address और Private IP Address को ढूढने के लिए अलग-अलग Steps होते है

Public IP Address

आपके Router के IP Address को ढूढ़ना बहुत आसन है इसके लिए आप whatismyipaddress.com या आप Google में जब WhatsMyIp Search करेंगे तो आपका IP Address आपके सामने आ जायेगा ये Web Browser Support करने वाले जैसेकि Laptop,Mobile,Ipod Desktop और Computer में करती है

Private IP Address

हम आपको Private IP Address पता करने के 2 आसन तरीके बताने वाले है

1.Internet के जरिये

2.Command Prompt के जरिये

1.Internet के जरिये

  1. आप जिस भी Divice का IP Address पता करना चाहते है उस Divice मे आपको Web Browser को Open करना है यहाँ पर आप अपने Computer का IP Address पता कर सकते है
  2. Browser Open होने के बाद आपको Search Box में आपको Whats My IP लिखना है और Enter करना है और आपका IP Address आपके सामने आ जायेगा

2.Window Command Prompt के जरिये

  1. सबसे पहले आपको अपने Computer के Window Start Button पर Click करके आपको CMD Type करना है
  2. ऐसा करने पर आपके सामने Command Prompt आ जायेगा अब आपको Command Prompt पर Right Click करना है और आपको Run as Administrator पर Click करना है
  3. अब आपके Command Prompt Open हो जायेगा अब आपको अपने KeyBoard की Help से Ipconfig Type करना है और Enter दबा देना है
  4. Enter करते ही आपकी Computer या Laptop Screen पर IPv4 के सामने आपके Window PC का IP Address आ जायेगा

Note :- इसी तरह आप किसी भी Computer या Laptop का IP Address पता कर सकते हो और यह किस नाम से जाना जाता है यह भी पता कर सकते है

Read Also :-Ransomware Virus क्या है इससे कैसे बचें ?

Read Also :-Free में Live IPL कैसे देखें ?2020

हम उम्मीद करते है कि आपको IP Address क्या है IP Address कितने प्रकार के होते है ? की जानकारी आपको पसंद आई होगी आप हमारे इस Post को अपने Friends और Social Media पर Share करके आप हमारा और हमारी Team का मनोबल बढ़ा सकते है इस Artical से Related अगर आपके मन में कोई सवाल है तो नीचे Comment Box में पूंछ सकते है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here